नीम का थाना विधानसभा चुनाव 2018 Result - Neemkathana Assembly Election result 2018 full updates

Neem-ka-thana Assembly Election Results 2018, Winner, Runner Up, Candidates List, Live News and Updates, Neem Ka Thana Elections, Neem Ka Thana Assembly Elections Results, Neem Ka Thana Vidhan Sabha Election Results  Neem Ka Thanaassembly election result 2018 live ,Neem Ka Thana vidhan sabha Election date 2018 ,Neem Ka Thana opinion/exit poll 2018 ,Neem Ka Thana election contesting candidate list 2018 ,Neem Ka Thana BJP INC BSP candidate list ,Neem Ka Thana Voter

Neem Ka Thana Election Results 2018 / Candidates

Results for the Neem Ka Thana Assembly constituency will be announced. Get latest updates and news of Neem Ka Thana Assembly (Vidhan Sabha) Constituency, election results with party, votes and candidates names. The winner and runner-up candidate in Neem Ka Thana constituency are also listed below.
 
Neem Ka Thana is a state Assembly/Vidhan Sabha constituency in the state of Rajasthan and is part of Sikar Lok Sabha/Parliamentary constituency. Neem Ka Thana falls in Sikar district and North region of Rajasthan. It is categorised as a rural seat.

There are a total of 2,43,662 voters in the seat, which includes 1,29,609 male voters, and 1,14,053 female voters. In the 2018 Rajasthan elections, Neem Ka Thana recorded a voter turnout of %. In 2013 the turnout was 73.47%, and in 2008 it was 68.1%.

In 2013, Prem Singh Bajor of BJP won the seat by a margin of 34,202 votes (22.26%). Prem Singh Bajor secured 45.3% of the total votes polled.

INC won this seat in the 2008 Assembly elections with a margin of 22,659 votes (18.32%), registering 51.82% of the total votes polled.

In the 2014 Lok Sabha elections, BJP led in the Neem Ka Thana Assembly segment of the Sikar Parliamentary/Lok Sabha constituency.
Check the table for Neem Ka Thana live results and for the list of all candidates in the 2018 Rajasthan Assembly elections in Neem Ka Thana and to know who is leading and who has won in the elections, and who will be the Neem Ka Thana MLA.


नीम का थाना (GEN) विधानसभा सीट राजस्थान के सीकर जिले की एक सीट है. ये सीकर लोकसभा सीट का हिस्सा है, जो शेखावाटी इलाके में पड़ता है. इस विधानसभा सीट में वोटरों की कुल संख्या 209143 है.

2013 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर प्रेम सिंह बजोर (बीजेपी) ने 69613 वोट हासिल कर जीत दर्ज की थी. उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को 34202 मतों के अंतर से हराया. दूसरा स्थान (35411) वोटों के साथ रमेश चन्द खंडेलवाल (कांग्रेस) को मिला. तीसरा स्थान (19713) वोटों के साथ सुरेश कुमार मोदी (आईएनडी) का रहा. (18116) वोटों के साथ आईएनडी को चौथा स्थान को मिला.

चुनाव में कुल 153864 मत पड़े थे. कुल 73.57% मतदान हुआ

उम्मीदवार सूची 2018

क्रम उम्मीदवार का नाम पार्टी
1 Prem Singh Bajore BJP
2 Rajesh Bhaida BSP
3 Suresh Modi INC
4 Jairam Singh Dabla Swaraj India
5 Narendra Moga SHS
6 Bhawani Shankar AAP
7 Bhopal Singh LJD
8 Mohan Yadav Bharatiya Yuva Shakti
9 Ramesh Khandelwal Rashtriya Loktantrik Party
10 Ramesh Sharma Bhartiya Party
11 Indrapal IND
12 Gajanand Saini IND
13 Dashrath Kumar Sain IND
14 Nandaram IND
15 Prem Singh IND
16 Manju Saini IND
17 Satish Insha IND
18 Sushil Kumar IND

Sitting and previous MLAs from Neem Ka Thana Assembly Constituency

Below is the list of winners and runners-up in the Neem Ka Thana assembly elections conducted so far.

YearA.C No.Assembly Constituency NameTypeWinnerGenderPartyVoteRunner UpGenderPartyVote
201338Neem ka ThanaGENPrem Singh MBJP69613Ramesh Chand KhandelwalMINC35411
200838Neem Ka ThanaGENRamesh Chand KhandelwalMINC64075Prem Singh BajorMBJP41416
200337Neem Ka ThanaGENPrem Singh Bajor MBJP30371Ramesh Chand KhandelwalMRRP30166
199837Neem Ka ThanaGENMohan Lal Modi MINC36782Ramesh Kumar KhandelwalMIND35714
199337Neem Ka ThanaGENMohan Lal Modi MINC46745PhoolchandMBJP32540
199037Neem Ka ThanaGENPhool Chand Bhagtwar MBJP42661Mohan LalMINC35939
198537Neem Ka ThanaGENPhool Chand MBJP38126Mohan Lal ModiMINC23027
198037Neem Ka ThanaGENMohan Lal Modi MIND13610Madan Lal DeewanMINC(I)11666
197737Neem Ka ThanaGENSurya Narain MJNP21633Shiv Ram SinghMINC12122
197233Neem Ka ThanaGENMala RamMBJS18355Mukti LalMINC16867
196733Neem Ka ThanaGENM. LalMINC18832R. KamwarMIND14833
196215Neem Ka ThanaGENChhotuMINC13432Dayal ChandMJS6194
195713Neem Ka Thana(SC)Narayan LalMINC18780Ram Pratap SharmaMIND13048
195713Neem Ka ThanaGENGyan ChandMINC18004BhagirathMIND10507
1956By PollNeem Ka ThanaGENGianchandMINC13169Indra LalMIND5407

Last Updated on : December 9 , 2018


Neem Ka Thana Assembly Constituency Election, Neem Ka Thana Assembly Election Candidate List, Current MLA in Neem Ka Thana Assembly Constituency, Previous MLAs in Neem Ka Thana Constituency, Neem Ka Thana Assembly Constituency Elections Results, Neem Ka Thana Vidhan Sabha Elections Results. 

कपिल अस्पताल नीमकाथाना में डॉक्टर रोगियों को लिख रहे हैं बाहरी दवा, निशुल्क दवा नहीं मिलने पर शिकायत केंद्र जयपुर को अवगत कराया

कपिल अस्पताल के डॉक्टर मरीजों को बाहरी दवा लिख रहे हैं, जबकि मरीज निशुल्क दवा के लिए यहां डीडीसी पर चक्कर काटते रहते हैं। मामले में मंगलवार को एक रोगी के परिजनों ने जयपुर स्थित आरएमएससी विभाग में शिकायत दी है। दरअसल मंगलवार को 10 वर्षीय मोहित को परिजन इलाज के लिए कपिल अस्पताल लेकर आए। यहां ओपीडी में डॉक्टर ने जांच की और दवा लिख दी। रोगी के परिजनों ने दवा केंद्र से दवा ली तो उन्हें केवल एक ही दवा मिली। फार्मासिस्ट ने शेष दवा बाहरी मेडिकल स्टोर से लेने को कहा। इस पर रोगी के साथ आए लोग गुस्सा हो गए। उन्होंने बाहर से दवा लेने से इनकार कर दिया। वे फार्मासिस्ट से भी उलझ गए। इसकी शिकायत जयपुर विभाग के निशुल्क दवा संबंधित शिकायत केंद्र पर की। शिकायत पर उच्चाधिकारियों ने सीकर व कपिल अस्पताल के स्टोर इंचार्ज से मामले में जानकारी ली। स्टोर इंचार्ज ने निशुल्क दवा की सभी दवाएं स्टॉक में पर्याप्त मात्रा में होना बताया। इधर, मंगलवार को इलाज के लिए आई प्रसूताएं काफी परेशान हुई। वे इलाज के लिए घंटों तक ओपीडी के बाहर बैठी रही, लेकिन एक ही डॉक्टर होने से उन्हें इलाज नहीं मिला। दोपहर बाद कई प्रसूता बिना इलाज के ही लौट गई। कपिल अस्पताल का ओपीडी प्रतिदिन करीब 1200 मरीजाें का रहता है। यहां हरियाणा तक लोग इलाज के लिए आते हैं।
निशुल्क दवा में शामिल नहीं है, रोगी को लिखी गई दवा
कपिल अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा बाहरी दवा लिखने के मामले में  पड़ताल की तो सामने आया कि रोगी को लिखी गई दवा निशुल्क योजना में शामिल ही नहीं है। रोगी को रोक्सी-150 एमजी, डाईक्लोफेरा व टेनापोर्ट इंजेक्शन लिखा था। मामले में कई लोगों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि कपिल अस्पताल के डॉक्टर मरीजों को बाहरी दवा लिख रहे हैं जो महंगी भी हैं, लेकिन उन्हें रोकने-टोकने वाला कोई नहीं है।
दो दवा केंद्र बंद रहे, परेशान हुए मरीज | कपिल अस्पताल में चार दवा केंद्र हंै, लेकिन मंगलवार को दो ही खुले। इससे मरीजों को परेशानी हुई। जानकारी के मुताबिक एक डीडीसी के फार्मासिस्ट की ड्यूटी बीपीएल काउंटर पर लगा दी। वहीं एक कार्मिक छुट्टी पर चले गए। केवल दो डीडीसी से मरीजों को दवा दी गई। ऐसे में यहां लंबी कतारें लगी रही। 150 मरीजों पर एक दवा केंद्र जरूरी है। ऐसे में अस्पताल को दो और डीडीसी खोलने की जरूरत है, लेकिन अस्पताल प्रशासन गंभीर नहीं है। 


निशुल्क दवा नहीं मिलने पर यहां शिकायत कर सकते हैं   

 
प्रदेश सरकार निशुल्क दवा वितरण योजना के तहत करीब 800 प्रकार की दवा रोगियों को सरकारी अस्पतालों में निशुल्क दे रही है। यदि डॉक्टर अस्पताल की पर्ची पर बाहरी दवा लिखे तो रोगी दूरभाष नंबर 0141-2228059 पर शिकायत कर सकते हैं। यहां सुबह 10 से शाम पांच बजे तक शिकायत कर सकते हैं।

शहीद बन्नाराम की गोवर्धनपुरा में अंत्येष्टि - जय हिंद । छत्तीसगढ़ के सुकमा इलाके में नक्सली हमले में शहीद

गोरधनपुरा ,नीमकाथाना सीकर शहीद बन्नाराम की अंत्येष्टि, छत्तीसगढ़ के सुकमा इलाके में नक्सली हमले में शहीद हुआ, बनाराम पैतृक गांव गोवर्धनपुरा में अंत्येष्टि, शहादत पर सभी को है गर्व।शहादत को नमन ।जय हिंद ।

शहादत पर गर्व है .........लेकिन वीरांगना, माँ ,बाप भाई ,बेटा, बेटी के अथाह दर्द को वो वि समझते है ।भगवान इस बेटी को हिम्मत देना ।नक्सल हमले में शहीद होने वाले सेना के अंतिम बिदाई पे खुदको संभल नही पायी उनके बेटी , जिसे देखकर वहाँ के सबके ऑंखें हुये नम ...

शहीद बन्नाराम का पार्थिव देह मंगलवार की देर रात करीब 10 बजे नीमकाथाना पहुंचा था। जैसे ही शहीद का पार्थिव देह कस्बे में पहुंचा तो हर किसी की आंख नम थी। पत्नी भी अपने पति के पाथिज़्व देह से लिपट कर रोने लगी तो कस्बे में हर आंख से आंसू आ गए। बुधवार को पूरा कस्बा शहीद के अंतिम दर्शन के लिए दौड़ पड़ा।



ऐसी सपूत के लिए आपके दिल में भी दर्द हुआ होगा
कोई सच्चे देशभक्त इसे इग्नोर मत कीजिये , सम्मान में -जय हिन्द - जरूर बोलिये


शहीद बन्नाराम की वीरांगना भी अपने पति को अंतिम विदाई देने के लिए मोक्षधाम पहुंची। मोक्षधाम पहुंचकर वीरांगना ने कहा कि वह खुशी-खुशी अपने पति को विदा करेगी। वीरांगना ने कहा कि उसे पति की शहादत पर उसे गर्व है। उसके बच्चे भी अपने पापा को हंसते-खिलते विदा कर रहे हैं। साथ ही उसने यह भी कहा कि वह अपने बेटे को भी देश की सेवा के लिए भेजेगी। इसके लिए उसने बेटे को अभी से फौज में जाने के लिए तैयार करना शुरू कर दिया है। शहीद की अंतिम यात्रा में सीआरपीएफ के जवानों के अलावा ग्रामीण भी मौजूद रहे। ग्रामीण भारत माता के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। इससे पहले ग्रामीणों ने शहीद के अंतिम दर्शन किए और जवानों ने शहीद को गार्ड ऑफ ऑनर देकर सम्मानित किया।
 

छतीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए उन सभी वीर जवानों की शहादत को कोटि कोटि नमन।
धन्य है वो माँ जिसने जन्म दिया ऐसे वीर लाल को, मातृभूमि की रक्षा की खतिर जिसने किया अपने प्राणों का बलिदान ।
जय हिंद जय हिंद की सेना ।
इंक़लाब ज़िंदाबाद ।

शहीद का बेटा करेगा नक्सलियों का जड़ से खात्मा 

मैं भी बनूंगा फौजी...देश की सेवा करूंगा....देश के दुश्मनों को धूल चटाउंगा। जिसने मेरे पापा को मारा है उन नक्सलियों का मैं जड़ से खत्मा कर दूंगा। ये बोल हैं छत्तीसगढ़ में शहीद बन्नाराम के बेटे अजय के। सोमवार देर रात छत्तीसगढ़ में हुए नक्सलियों के हमले में अजय के पिता बन्नाराम शहीद हो गए। जैसे ही बन्नाराम के शहीद होने की खबर नीमकाथाना पहुंची तो कस्बे में कोहराम मच गया। घर में उसकी पत्नी पर मानो पहाड़ टूट पड़ा हो। पत्नी बार-बार अपने पिया का नाम लेकर बेसुध हो रही थी तो वहीं बेटे का भी रो-रोकर बुरा हाल था। पत्रिका ने जब बेटे से बात करनी चाही तो उसकी आंख भर आई और रुंधे गले से बोला 'वह भी अपने पापा की तरह फौजी बनेगा और देश की सेवा करेगा।Ó उसने बताया कि उसका पापा फौज में जाने की ही प्रेरणा देते थे। उसका कहना है कि वह देश की सेवा के लिए हमेशा तैयार है। अजय ने नक्सलवादियों के प्रति सरकारी रवैये पर भी नाराजगी जताई। 

सरकार की उदासीनता से बढ़ रहा नक्सलवाद
अजय का कहना है कि सरकार की उदासीनता के चलते नक्सलवाद बढ़ रहा है। उसकी शहीदों और उसके परिवार के प्रति जो रवैया है वह ठीक नहीं है। अजय का कहना है कि शहीदों के परिजनों को मिलने वाली सहायता शहीदों के परिवार तक सही तरह से नहीं पहुंचती। कभी-कभार सरकार की तरफ से सहायता आ भी जाती तो वह भी कुछ दिन के लिए ही होती है।


शहीदों की धरा के रणबांकुरे शहीद बन्नाराम को शत-शत नमन,
सैनिकों के गांव गोवर्धनपुरा की उस मां को नमन, जिसने देश के लिए शेर बन्नाराम को जन्म दिया।
इस दुख घड़ी में भगवान शहीद परिवार को सबल प्रदान करे।

 छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार(27 अप्रैल) को नक्सलियों ने बड़े हमले को अंजाम दिया। घात लगाकर किए गए इस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 25 जवान शहीद हो गए। जबकि आठ जवान घायल हैं, जिनमें चार की हालत गंभीर है। नक्सली जवानों के हथियार भी लूट कर ले गए हैं।

दोपहर 12 बजे के बाद जब जवान खाना खाने के लिए बैठे तो नक्सलियों ने अचानक धावा बोल दिया। इसका जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। दोनों ओर से गोलीबारी के बीच करीब 3 घंटे तक मुठभेड़ चली। घायल जवानों को हेलीकॉप्टर से रायपुर लाया गया। यहां दो निजी अस्पतालों में उनका इलाज चल रहा है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जवानों पर हुए नक्सली हमले की निंदा करते हुए उसे ‘‘कायरतापूर्ण और निंदनीय बताया’’ तथा इसबात पर जोर देते हुए कहा कि शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ जवानों पर हमला कायरतापूर्ण और निंदनीय है। हम स्थिति की करीबी निगरानी कर रहे हैं।’’

उन्होंने लिखा, ‘‘हम अपने सीआरपीएफ जवानों की बहादुरी पर गौरवान्वित हैं। शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उनके परिवारों के प्रति संवेदनाएं।’’ उन्होंने सोमवार को हमले में घायल हुए जवानों के जल्दी स्वस्थ होने की कामना की।

 

 Searched tags for :- news, shaheed bannaram in neemkathana , bannaram jaat in  gordhanpura neemkathana sika rajasthan, bannaram boran chhattisgarh , छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमला

कांग्रेस के लोकप्रिय नेता मोहन मोदी नहीं रहे - MLA of Neemkathana Mohanlal Modi died

Former MLA of Neemkathana Mohanlal Modi died

नीमकाथाना क्षेत्र में कांग्रेस से चार बार विधायक रहे वयोवृद्व मोहन मोदी पिछले काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे। उनके पुत्र सुरेश मोदी ने बताया कि पिता मोहन मोदी वर्ष 1967-72,1980-85,1993-98 व 1998 से 2003 तक कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं। उनका अंतिम संस्कार बुधवार को सुबह नीमकाथाना में किया जाएगा। इस दौरान कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं के आने की भी संभावना है।
मोदी के निधन की सूचना से पूरे शहर में शोक की लहर दौड़ गई। मोदी की पार्थिव देह मंगलवार को दोपहर 1 बजे जयपुर से उनके निवास स्थान पर लाई गई। छावनी में क्षेत्र के सैकड़ों कांग्रेसजन मोदी को श्रद्धाजंलि देने पहुंचे। 

मोदी ने शहर में बहुत से विकास के कार्य करवाए हैं। 1977 में मोदी ने शहर के औद्योगिक क्षेत्र में इन्द्रा गांधी की सभा भी करवाई थी। उस दौरान दूर-दराज से सभा में भाग लेने के लिए कांग्रेस जन आए थे।


here we will post funeral images of Mohanlal ji modi, last darshan yatra of mohan modi, mohan modi ji ki anteysti, all video live streaming information with full details.



mohan modi, died , former mla of neemkathana, mohan modi nkt, neemkathana mla, , hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, sikar news, sikar news in hindi, real time sikar city news, real time news, sikar news khas khabar, sikar news in hindi